Posts

vishakhapatnams city vizag me L.G Polymersne bhopal gas kand ki yaad tazaa kar di

Image
आंध्रप्रदेश  के विशाखापटनम वायज़ेग के वेंकटपुरम  के आर आर पुरम की एल .जी. पॉलिमर कंपनी मे रात करीब ढाई बजे स्टाइरिन गैस लीक होने से लोग जहा थे वही बेहोश हो गए कुछ लोग सड़क पर भी बेहोशों की अवस्था मे मिले है । गैस लीक होने से  यहा वह लोग गिरने लगे कुछ की लाश सड़क पर तो कोई कुए मे तो कोई नाले किनारे मृत पाये गए इस तरह से कुल  11  व्यक्तियों की मृत्यु हो गयी है साथ कई पशु पक्षी भी इसगेस से आहात हुए हे सबसे ज्यादा नुकसान बुजुर्गो एवं बच्चो मे देखने को मिला है वही अस्थमा के मरीज को भी अस्पताल मे भर्ती करवाया गया है 3 से 4 किलोमीटर क्षेत्र मे फ़ेल जाने से लोगो को रेशेस आंखो मे जलन एवं सांस लेने मे तकलीफ हो रही है करीब 1000 लोगों को अस्पताल मे भर्ती कराया गया है । 100 नंबर से सूचना आने के तुरंत बाद सरकार एवं प्रशासन हरकत मे आया और डीसास्टर मेनेजमेंट ने 5 गाँव को खाली कराया है  । केंद्र सरकार भी हरकत मे आ गयी है और राज्य को यथा संभव मदद का एलान किया है गैस रिसाव पर काबू पाया गया है  ।जगन मोहन रेड्डी द्वारा घटना स्थल पर पहुचकर हॉस्पिटल मे भर्ती मरीजो से मुलाक़ात कर सहायता का आश्वासन पीड़ि

17 मई 2020 तक लागु Modified Lockdown 3.0 मे रेड ,ऑरेंज,ग्रीन ज़ोन मे दी जानी वाली रियायते

Image
modified लोक डाउन  3.0 आखिर है क्या  17 मई तक  modified लोक डाउन  एक चरणबद्ध तरीके से  कुछ विशेष छूट के साथ लोकडाउन को आम जनता के लिए सहज बनाना ताकि जनता को होने वाली परेशानी के स्तर को कम किया जा सके चूंकि हमारे देश के जिलो को रेड , ऑरेंज , ग्रीन इस प्रकार से तीन ज़ोन मे विभाजित किया गया है जिसमे से  modified लोक डाउन  की ज़्यादातर छूट ग्रीन ज़ोन मे मिलेंगी ऑरेंज ज़ोन मे ग्रीन ज़ोन के मुक़ाबले दी जाने वाली रियायते कम होंगी एवं रेड ज़ोन मे कंटेनमेंट ज़ोन मे या सील की गयी सोसाइटी मे ये  modified लोक डाउन  की छूट नहीं मिलेंगी शेष बचे एरिया मे कुछ छूट दी जा सकती है । कंटेनमेंट क्षेत्र   सील किए गए वो क्षेत्र जहा कोरोना के मरीज ज्यादा संख्या मे पाये जा रहे है उन्हे कंटेनमेंट ज़ोन मे तब्दील कर उस क्षेत्र मे नए लोगो के प्रवेश और निकासी पर रोक लगाना ताकि कोरोन को उस क्षेत्र मे ही रोक लिया जावे यहा केवल जरूरत का समान ही मुहेया करवाया जा रहा है । रेड , ऑरेंज, ग्रीन  ज़ोन जिलो की पहचान कैसे की गयी  रेड ,ऑरेंज,ग्रीन  ज़ोन जिलो की पहचान उस जिले मे बड़ने वाले कोरोना मरीजो की

तानाशाह किम जोंग उन के साम्राज्य नॉर्थ कोरिया की वारिश किम यो- जोंग

Image
सनकी तानाशाह और उसका साम्राज्य किम जोंग उन सनकी तानशाह की तबीयत कोरोना के दौरान नासाज़ हो चली है हार्ट सरजरी के बाद से उत्तर कोरिया की गद्दी खाली हो गयी है माना ये जा रहा है की किम जोंग की सरजरी फ़ेल होने से किम जोंग उन की हालत नाजुक हो गयी है इसी बीच पोलीट ब्यूरो मे किम यो जोंग के वापसी से अफवाहों का बाज़ार गरम हो गया है इस घटना की तफतीश दक्षिण कोरिया के द्वारा की जा रही है उत्तर कोरिया आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की गयी 11 अप्रैल से किम जोंग उन को नहीं देखा गया है 15 अप्रैल को होने वाले सालाना समारोह मे शामिल नहीं होने से ये अफवाहे ज़ोर पकड़ रही है उत्तर कोरिया मे तानाशाही होने के कारण वहाँ की मीडिया से खबरे दुनिया तक पहुचना मुशकील भरा काम है चाइना सेकिम जोंग के शत के लिए मेडिकल टीम का उत्तर कोरिया जाना भी अफवाहों को बल दे रहा है वही कुछ चाइनिज न्यूज़ चैनल ये दावा कर रहे है की किम जोंग मर चुका है वही कुछ का कहना की वह कोमा मे है । क्यो किम जोंग को सनकी कहा जाता है  सनकी किम के पास प्रशिक्षित सेना है हथियारो का झखीरा  है किम के पास कई परमाणु मिसाईले, हाय

अमेरिका की जगह सुपर पावर बनने के लिए चाइना की कोरोना साजिश

Image
चाइना ने दुनिया के लिया तैयार किया मौत का वाइरस  चाइना ने कैसे  कोविड19 वाइरस को बनाया और कैसे इससे दुनिया मे फैलने के लिए छोड़ दिया ? कैसे शंघाई और बीजिंग इस वाइरस से बच गए और यूरोप ,यूके,यूएस ने इसके आगे घुटने टेक दिये आगे इस ब्लॉग मे विस्तरत जानिए कहा इसे बनाया गया किसकी मदद से इसे फैलाया गया क्यों चाइना मे मरीजो की संख्या बड़ना बंद हो गयी  किसकी मदद से वाइरस बनाया गया कौन है जो बीमारी फैलाकर धन बटोर रहा है कौन है जो सुपर पावर बनने के सपने देख रहा है किसने अपने यहा लोकडाउन हटा कर फिर से फ़ैक्टरी मे काम शुरू करवा दिया है कैसे  वाइरस से दुनिया मे मौतों का आंकड़ा बड़ रहा है और कोन है जो इससे अभी भी अछूता है कैसे  W HO  ने चाइना का साथ दिया चीन के झूठ मे ? क्या ली वेन लियांग के मैसेज ने उनके लिए मोत का सबब बनी ऐसे कई प्रश्न हमारे और आप सब के मन मे गूंज रहे है पर जवाब नहीं है जवाब से संबन्धित कुछ तथ्यों के बारे मे हम नीचे पड़ेंगे। बीजिंग और शंघाई कैसे बचे वाइरस से  कोविड19   वाइरस से मुंबई ,दिल्ली, बर्लिन , रोम , लंदन ,न्यूयॉर्क, जैसे शहर बंद है । हॉलीवुड स्टार , ब्रिटेन के 

हाइड्रोजन ऊर्जा एवं ईंधन उत्पत्ति

Image
Hydrogen Energy Use And Its Production  हाइड्रोजन का उपयोग दवाई बनाने, कमर्शियल वाहन  प्लेन , ट्रेन, बस , ट्रक ईंधन हेतु  ,ऊर्जा उत्पादन इत्यादि मे किया जाता है हाइड्रोजन का उपयोग कर दक्षिण कोरिया देश में बम बना लिया है । Hydrogen-energy जीवाश्म ईंधन का तेजी से क्षय हो रहा है और उनके दहन से भी कई समस्याएं पैदा हो रही हैं जैसे कि ग्रीन हाउस इफ़ेक्ट ओज़ोन लेयर की कमी एसिड रेन और एनविरोमेंटल प्रदूषण हाइड्रोजन को इन सभी वैश्विक समस्याओं के समाधान के रूप में देखा जाता है। चूँकि हाइड्रोजन अम्लीय होता है और कुशल ईंधन इहेन हाइड्रोजन को ईंधन के रूप में जलाया जाता है या बिजली में परिवर्तित किया जाता है, जो ऑक्सीजन के साथ जुड़कर केवल उत्सर्जन के रूप में पानी के साथ ऊर्जा का उत्पादन करता है और जब ऑक्सीजन के बजाय दहन के लिए हवा का उपयोग किया जाता है। कुछ NOx का भी उत्पादन किया जाता है, जिसे दहन टेम्परेचर को कम करके कम किया जा सकता है।                                                                                                                                                

समुद्री ज्वार से विद्युत उत्पादन Tidal Energy Power Plant

Image
What is Tidal Energy and How to Produced in Power Plant Tidal Power   हाइड्रो एनर्जी  के रूप में होती है  इससे विद्युत उत्पन्न की जाती है । ज्वार  से बिजली के संचय के लिए। यह आवश्यक है कि पानी के प्रवाह के बीच के स्तरों में अंतर होना चाहिए। बिजली के उत्पत्ति के लिए कई अवधारणाओं का विकास किया गया है, जो एक  water turbine को संचालित करने के लिए ज्वार के उदय और गिरने से उत्पन्न हो सकते हैं, शक्ति ज्वार से उत्पन्न होती है जिसमें कृत्रिम रूप से विकसित बेसिन और समुद्र के बीच प्रवाह शामिल होता है। ज्वार विद्युत सयंत्र के दो वर्ग होते है जो इस प्रकार है :-                                                                                                         1.एकल बेसिन व्यवस्था                       2.डबल बेसिन व्यवस्था

भारत एवं दुनिया की अर्थव्यवस्था के लिए खतरा है कोरोनावायरस

Image
चाइना के वुहान शहर से निकला कोरोना दुनियाभर के लिए आफत का सबब बनता जा रहा है चाइना ने कोरोना से होने वाले मृत्यु के आंकड़े के अनुसार सिर्फ 3500 से ज्यादा लोगों मारे गए है जो की इससे कही ज्यादा होने का अनुमान है  चाइना देश की सरकार एवं मीडिया कोरोना के आंकड़ों को छुपा रहा है संयुक्त राष्ट्र की कॉन्फ्रेंस ऑन ट्रेड एंड डिवैलपमेंट की जारी रिपोर्ट मे कोरोना को दुनिया के कई मुल्कों की अर्थव्यवस्था लगभग 2.7 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होने का अनुमान है भारत मे करीबन 34.8 करोड़ डॉलर तक का नुकसान होना संभावित है । कोरोना का प्रभाव यूरोप,यूके एवं अमेरिका मे अधिक दिख रहा है जहां इटली मे अब तक मौतों का आकड़ा 10000 से ज्यादा हो चुका है वही स्पेन मे मरने वालों का आंकड़ा 6000 हो चुका है अमेरिका मे यह आंकड़ा 2000 के पार हो चुका है हमारे देश मे भी मौतों का आंकड़ा 26 हो चुका है क्योंकि संक्रामण अभी भी मेट्रो शहर एवं छोटे प्रमुख शहर तक बना है यह वाइरस गाँव से अछूता है इस कारण से भारत मे अभी तक यह जानलेवा नहीं हुआ है परंतु भारत मे अभी 100 प्रतिशत लोक डाउन स्थिति बनी हुई है । भारत दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं मे