vishakhapatnams city vizag me L.G Polymersne bhopal gas kand ki yaad tazaa kar di

Image
आंध्रप्रदेश  के विशाखापटनम वायज़ेग के वेंकटपुरम  के आर आर पुरम की एल .जी. पॉलिमर कंपनी मे रात करीब ढाई बजे स्टाइरिन गैस लीक होने से लोग जहा थे वही बेहोश हो गए कुछ लोग सड़क पर भी बेहोशों की अवस्था मे मिले है । गैस लीक होने से  यहा वह लोग गिरने लगे कुछ की लाश सड़क पर तो कोई कुए मे तो कोई नाले किनारे मृत पाये गए इस तरह से कुल  11  व्यक्तियों की मृत्यु हो गयी है साथ कई पशु पक्षी भी इसगेस से आहात हुए हे सबसे ज्यादा नुकसान बुजुर्गो एवं बच्चो मे देखने को मिला है वही अस्थमा के मरीज को भी अस्पताल मे भर्ती करवाया गया है 3 से 4 किलोमीटर क्षेत्र मे फ़ेल जाने से लोगो को रेशेस आंखो मे जलन एवं सांस लेने मे तकलीफ हो रही है करीब 1000 लोगों को अस्पताल मे भर्ती कराया गया है । 100 नंबर से सूचना आने के तुरंत बाद सरकार एवं प्रशासन हरकत मे आया और डीसास्टर मेनेजमेंट ने 5 गाँव को खाली कराया है  । केंद्र सरकार भी हरकत मे आ गयी है और राज्य को यथा संभव मदद का एलान किया है गैस रिसाव पर काबू पाया गया है  ।जगन मोहन रेड्डी द्वारा घटना स्थल पर पहुचकर हॉस्पिटल मे भर्ती मरीजो से मुलाक़ात कर सहायता का आश्वासन पीड़ि

भारत एवं दुनिया की अर्थव्यवस्था के लिए खतरा है कोरोनावायरस

चाइना के वुहान शहर से निकला कोरोना दुनियाभर के लिए आफत का सबब बनता जा रहा है चाइना ने कोरोना से होने वाले मृत्यु के आंकड़े के अनुसार सिर्फ 3500 से ज्यादा लोगों मारे गए है जो की इससे कही ज्यादा होने का अनुमान है  चाइना देश की सरकार एवं मीडिया कोरोना के आंकड़ों को छुपा रहा है संयुक्त राष्ट्र की कॉन्फ्रेंस ऑन ट्रेड एंड डिवैलपमेंट की जारी रिपोर्ट मे कोरोना को दुनिया के कई मुल्कों की अर्थव्यवस्था लगभग 2.7 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होने का अनुमान है भारत मे करीबन 34.8 करोड़ डॉलर तक का नुकसान होना संभावित है । कोरोना का प्रभाव यूरोप,यूके एवं अमेरिका मे अधिक दिख रहा है जहां इटली मे अब तक मौतों का आकड़ा 10000 से ज्यादा हो चुका है वही स्पेन मे मरने वालों का आंकड़ा 6000 हो चुका है अमेरिका मे यह आंकड़ा 2000 के पार हो चुका है हमारे देश मे भी मौतों का आंकड़ा 26 हो चुका है क्योंकि संक्रामण अभी भी मेट्रो शहर एवं छोटे प्रमुख शहर तक बना है यह वाइरस गाँव से अछूता है इस कारण से भारत मे अभी तक यह जानलेवा नहीं हुआ है परंतु भारत मे अभी 100 प्रतिशत लोक डाउन स्थिति बनी हुई है । भारत दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं मे शुमार है। कोरोना का केंद्र चाइना है और यहाँ पर बंद हुई उद्योगों का असर भारत मे साफ तौर पर देखा जा सकता है ।भारत का दवाई बाज़ार पूरी तरह से चाइना पर निर्भर करता है है क्योंकि दवाई के लिए कच्चा माल चाइना से ही भारत आता है जो बुरी तरह से प्रभावित हुआ है भारत जेनेरिक दवाओं का बहुत बड़ा सप्लायर है प्रमुख रूप से भारत पेरासीटामोल एवं विटामिन की दवाई भारत से कई देशो मे निर्यात की जाती है जिस पर अभी रोक लगा दी गयी है ताकि देश मे दवाओं की आपूर्ति बनी रहे । भारत ने आगामी 15 अप्रैल 2020 तक के लिए सभी वीजा रद्द कर दिये है भारत मे यात्रीओ से करीबन 63 अरब डोलर का व्यापार प्रभावित हुआ है मौजूदा समय मे भारत की सभी उद्योगिक इकाई बंद पड़ी है इससे ऑटो मोबाइल जगत भी ठप्प पड़ा है क्योंकि चाइना क्लच,गेयर्बोक्स,एवं कई छोटे बड़ी ऑटो पार्ट्स भारत को निर्यात करता है अर्धशास्त्री इससे 2008 के वित्तीय संकट से भी बड़ा संकट है जिससे उभरने मे भारत एवं पूरी दुनिया को वक़्त लगेगा इससे वेशविक पर्यटन को भी हानी पहुचने का अनुमान लगाया गया है पूरी दुनिया के कई पर्यटक स्थल ऐसे है जहां सालभर पर्यटन का तांता लगा रहता है ये प्रमुख स्थलों मे बैंकॉक,जापान,सिंगापूर,पटाया,भारत,मोरिशियस,स्विट्ज़रलैंड,लंदन,होंगकोंग,थायलैंड,श्रीलंका,वियतनाम,अफ्रीका आदि है ।कोरोना महामारी के चलते पुरी दुनिया मे लाकडाउन की स्थिति बनी है ।
भारत मे जीडीपी 207 लाख करोड़ की है जिसकी ग्रोथ 6.2 के स्थान पर 5.1 प्रतिशत रहना का अनुमान है ।साथ ही भारत मे आयोजित होने वाला आईपीएल भी इससे अछूता नहीं रहा है यदि आईपीएल रद्द होता है तो यह घाटा 10000 करोड़ तक होना संभावित है ।साथ ही इससे जापान मे आयोजित होने वाला वर्ल्ड ओलोंपिक्स भी प्रभावित हो रहा है आज तक कभी ऐसा नहीं हुआ की ओलोंपिक्स की केरेमोनी मे दर्शक शामिल न हुए हो पर कोरोना क चलते यह नज़ारा भी दुनिया ने देख लिया है इससे मोबाइल वर्ल्ड कॉंग्रेस का आयोजन भी रद्द हुआ है।सबसे बड़ा असर शेयर बाज़ार ने कोरोना के चलते झेला है कई अरब डॉलर रुपए डूब चुके है शेयर बाज़ार निफ्टी का आंकड़ा 7900 से निचले स्तर को छु लिया है बड़े दिग्गज शेयर आज कोड़ियों के भाव मिल रहे है जैसे एसबीआई,टाटा मोटर्स,नवीन फुल्लेरिन,आईआरसीटीसी,आईटीसी,महेन्द्रा एंडमहेन्द्रा,सेल,स्पाइस जेट,और भी बहुत सारे शेयर आज अपने मौजूदा भाव से काफी निचले स्तर पर ट्रेड हो रहे है शेयर बाज़ार दिन प्रतिदिन लगातार बेयरिश लाल निशान पर खुलते और बांद होते जा रहे है ।यह हाल भारत ही नहीं पूरे वेशविक शेयर बाज़ार का हाल है ब्रेण्ट क्रूड अपने निचले स्तर 25 डॉलर प्रति बेरल के भाव पर ट्रेड हो रहा है ।

सरकार के द्वारा उठाए कदम:- अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प ने हस्ताक्षर कर 2000 अरब डॉलर के आर्थिक राहत पैकेज किया है राष्ट्रपति ट्रम्प ने बताया की अमेरिका मरीजों के लिए स्ट्रेचर्स निर्माण की व्यवस्था मे लगा है ताकि अमेरिका एवं दुनिया को स्ट्रेचेर्स की कमी न हो । अमेरिका ने 64 देशों को 13 अरब डॉलर की मदद का एलान किया है। जिसमे से अमेरिका देगा भारत को करीब 21 करोड़ 77 लाख की मदद साथ ही भारत की वित्तमंत्री ने 1.70 लाख करोड़ के राहत पैकेज का एलान किया है पीएफ मे सरकार द्वारा तीन महीने तक जमा की जाएगी राशि।यह नियम 100 से कम कर्मचारी वाले संस्थानो पर लागू होगा ।सरकार की और से 50 लाख का इन्शोरेंस स्वास्थ कर्मचारियो को दिया जाएगा। साथ ही प्रधान मंत्री अन्न योजना के अंतर्गत तीन माह तक 5 किलो चावल/गेंहू दिया जाएगासाथ ही 1 किलो दाल भी दी जाएगी ।उज्ज्वला योजना के लाभार्थी को तीन माह तक मुफ्त गैस सिलिंडर दिया जाएगा।साथ ही किसानो के लिए आर्थिक सहता का एलान किया है किसान समान निधि के तहत 2000 की किश्त डाली जाएगी। महिलाओ के जनधन खातों मे 500 रुपए डाले जाएगे साथ ही विधवा महिला एवं बड़े बुड़ो को पेंशन के साथ 1000 रुपए तीन माह तक अतिरिक्त दिये जाएंगे।दुनिया एवं भारत मे कई सेलेब्रिटी,नेता एवं दानदाताओ ने गरीब वर्ग के लिए खजाना खोल दिया है ।साथ ही आम नागरिक एव माध्यम वर्ग के लोग भी मदद के लिए आगे आए है ।कोई खाना तो कोई पैसे तो कोई राशन देकर कर रहे है मदद ऐसे मे कई मंदिर प्रशासन भी दान देने मे पीछे नहीं है ।राज्यसरकारों द्वारा भोजन की व्यवस्था की जा रही है साथ ही सस्ते मास्क एवं सेनेटाइज़रकी आपूरते मे लगे है लगातार प्रमुख जगह एवं शहरों को सेनेटाइज़ किया जा रहा है बैंक को खुल्ला रखा गया है बड़ी जगह को सेल्फ Quarintine एवं अस्पतालों मे तब्दील करने का कार्य किया जा रहा हैसमय समय पर दूध सब्जी की आपूर्ति को बनाया गया है विभिन्न राज्यो के मुख्यमंत्री द्वारा कलेक्टर को जरूरी समान के दाम निर्धारित करने के लिए निर्देशित किया गया है प्रशासन द्वारा थोक विक्रेताओ के गड़बड़ी की सूचना मिलने पर तत्काल उनके खिलाफ कार्यवाही के आदेश दिये गए है कुछ मजदूर वर्गो ने अपने घर लोटने का फैसला किया है उन मजदूर वर्ग के लोगो ने साधन न होने पर पेडल यात्रा शुरू कर दी है उनकी मदद रास्ते मे पड़ने वाले गाँव वालों के द्वारा की जा रही है शासन भी सजक होकर बसों की व्यवस्था मे लगा है पहले उनकी पहचान कर उनका कोरोना टेस्ट किया जाएगा एवं रिपोर्ट न आने तक उन्हे अलग रखा जाएगा उस स्थान पर भोजन की व्यवस्था वह का प्रशासन करेगा ।

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

घर की वाटर प्रूफिंग कैसे करें

समुद्री ज्वार से विद्युत उत्पादन Tidal Energy Power Plant

सुप्रीम कोर्ट ने बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी को भारतीय बाजार में दी खरीदी की अनुमति