vishakhapatnams city vizag me L.G Polymersne bhopal gas kand ki yaad tazaa kar di

Image
आंध्रप्रदेश  के विशाखापटनम वायज़ेग के वेंकटपुरम  के आर आर पुरम की एल .जी. पॉलिमर कंपनी मे रात करीब ढाई बजे स्टाइरिन गैस लीक होने से लोग जहा थे वही बेहोश हो गए कुछ लोग सड़क पर भी बेहोशों की अवस्था मे मिले है । गैस लीक होने से  यहा वह लोग गिरने लगे कुछ की लाश सड़क पर तो कोई कुए मे तो कोई नाले किनारे मृत पाये गए इस तरह से कुल  11  व्यक्तियों की मृत्यु हो गयी है साथ कई पशु पक्षी भी इसगेस से आहात हुए हे सबसे ज्यादा नुकसान बुजुर्गो एवं बच्चो मे देखने को मिला है वही अस्थमा के मरीज को भी अस्पताल मे भर्ती करवाया गया है 3 से 4 किलोमीटर क्षेत्र मे फ़ेल जाने से लोगो को रेशेस आंखो मे जलन एवं सांस लेने मे तकलीफ हो रही है करीब 1000 लोगों को अस्पताल मे भर्ती कराया गया है । 100 नंबर से सूचना आने के तुरंत बाद सरकार एवं प्रशासन हरकत मे आया और डीसास्टर मेनेजमेंट ने 5 गाँव को खाली कराया है  । केंद्र सरकार भी हरकत मे आ गयी है और राज्य को यथा संभव मदद का एलान किया है गैस रिसाव पर काबू पाया गया है  ।जगन मोहन रेड्डी द्वारा घटना स्थल पर पहुचकर हॉस्पिटल मे भर्ती मरीजो से मुलाक़ात कर सहायता का आश्वासन पीड़ितो को दिया …

अमेरिका की जगह सुपर पावर बनने के लिए चाइना की कोरोना साजिश

चाइना ने दुनिया के लिया तैयार किया मौत का वाइरस 

चाइना ने कैसे  कोविड19 वाइरस को बनाया और कैसे इससे दुनिया मे फैलने के लिए छोड़ दिया ? कैसे शंघाई और बीजिंग इस वाइरस से बच गए और यूरोप ,यूके,यूएस ने इसके आगे घुटने टेक दिये आगे इस ब्लॉग मे विस्तरत जानिए कहा इसे बनाया गया किसकी मदद से इसे फैलाया गया क्यों चाइना मे मरीजो की संख्या बड़ना बंद हो गयी  किसकी मदद से वाइरस बनाया गया कौन है जो बीमारी फैलाकर धन बटोर रहा है कौन है जो सुपर पावर बनने के सपने देख रहा है किसने अपने यहा लोकडाउन हटा कर फिर से फ़ैक्टरी मे काम शुरू करवा दिया है कैसे  वाइरस से दुनिया मे मौतों का आंकड़ा बड़ रहा है और कोन है जो इससे अभी भी अछूता है कैसे WHO ने चाइना का साथ दिया चीन के झूठ मे ? क्या ली वेन लियांग के मैसेज ने उनके लिए मोत का सबब बनी ऐसे कई प्रश्न हमारे और आप सब के मन मे गूंज रहे है पर जवाब नहीं है जवाब से संबन्धित कुछ तथ्यों के बारे मे हम नीचे पड़ेंगे।


बीजिंग और शंघाई कैसे बचे वाइरस से 

कोविड19  वाइरस से मुंबई ,दिल्ली, बर्लिन , रोम , लंदन ,न्यूयॉर्क, जैसे शहर बंद है । हॉलीवुड स्टार , ब्रिटेन के  स्वस्थ्यमंत्री ,ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स ,आस्ट्रालिया के गृहमंत्री, स्पेन और कनाडा के प्रधानमंत्रियो की पत्नी संक्रमित हो चुके है वही चीन मे मिलिटरी कमांडर से लेकर किसी नेता तक को कोरोना नहीं हुआ है जानकारो की माने तो कोरोना का टीका चाइना मौजूद है । बीजिंग और शंघाई चाइना कि आर्थिक राजधानी इससे अछूते है  इसके पीछे चाइना की मंशा ग्लोबल मार्केट पर अपना वर्चस्व बनाना है चाइनिज युआन के मुक़ाबले अमेरीकन डॉलर और यूरोपियन करेंसी गिर रही है कई गिरती कंपनी के शेयर चाइना खरीद कर इन पर अपनी हुकूमत बड़ा रहा है साथ ही इस वाइरस से जूझ रहे देशो को चाइना  को चाइना के उत्पाद जैसे मास्क , प्रोटेक्टिव सुट्स , दवाई, टेस्टिंग किट्स, वेंटिलेटर्स  उपलब्ध कराना है ।                                                                                         


WHO और चाइना की मिली भगत 

WHO ने 14 जनवरी को ट्वीट कियाकी कोरोना  ह्यूमन से ह्यूमन फैलता है डाइरेक्टर जेनरल डैडरोक ने चाइना को क्लीन चिट दी इंटरनेशनल फ्लाइट को जब बंद करने की बात काही गयी तो  ने इसे पेनीक फैलाने की कोशिश कर दिया WHO को मिली शक्तियों का उसने इस्तेमाल कर इसे समय से महामारी घोषित नहीं किया और लॉं प्रोफेसर शु ब्लॉग के माध्यम से जानकारी देने क बाद से गायब है उनके ब्लॉग को हटा लिया गया WHO ने इस बारे मे पता करने की कोशिश तक नहीं की जब ये वाइरस दुनिया मे फ़ेलगया तब जाकर इसे महामारी घोषित किया गया ।

कई प्रश्न जो लोगों को सोचने पर मजबूर करते है 

  कोविड19  जिसने दुनिया भर  के 190 देश मे फ़ेल गया है कोरोना  कोविड19  दुनिया मे मौत का अम्बार लगा दिया है लाशों के लिए कोफीन कम पड़ने लगे है लाशों को दफन करने के लिए कब्रिस्तान छोटे पड़ने लगे है कही  पहले से कब्रों की तैयारी की जा रही है जो मंजर कहानी किस्सों मे सुना था वो आज हकीकत मे देखने को मिल रहा है दुनिया की बड़ी से बड़ी अर्थव्यवस्थाए चरमरा रही है विकसित देश इस बीमारी का हल पता करने मे नाकाम हो रहे है सबसे अच्छे इलाज करने वाले देश अमेरिका, इटली मे सबसे ज्यादा मोत हो रही है इसकी शुरुआत 30 दिसम्बर 2019 को ली वेन लियांग के द्वारा डाक्टर्स के ग्रुप मे इस कोरोना वाइरस के संबंध मे जानकारी साझा की गयी जिस पर सरकार एवं अन्य डाक्टर्स  ने इस पाए ध्यान नहीं दिया और इसका इलाज करते हुए 9 फ़रवरी 2020 को डाक्टर् ली की मोत हो गयी और शेष आठ डोक्टेर्स  जिन्होने इसके बारे मे जानकारी साझा कर दी थी उन्हे भी गायब कर दीया गया चाइना के शीर्ष अधिकारियों द्वारा और कहा  तो यहा तक जा रहा है के ग्लोबल मार्केट को ठप करने के लिए इस वाइरस का आविष्कार चाइना के द्वारा किया गया


चाइना के द्वारा एक अरसे से हुबई मे वुहान सेंटर फॉर डीसिस कंट्रोल यानि की WHDC मे जैविक हथियार को हासिल करने के लिए चमगादड़  पर रिसर्च की जा रही थी वुहान मे  चैन वी (पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी के मेजर जनरल) और स्सथ ही जैनेटिक इंजीनीयरिंग के प्रमुख मे से एक की तेनाती से इसे सेना और जैविक हथियारो से जोड़कर देखा जा रहा है

टॉम कोटन अमेरिकी सांसद के कथनानुसार कोविड19  वुहान शहर के फिश मार्केट से नहीं बल्कि वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वयरोलोजी लैब से फला है।साथ ही दो चीनी वैज्ञानिक ने भी माना है की ये वाइरस वुहान शहर की लैब से ही फैला है

अमेरिका द्वारा डबल्यूएचओ जिसका मुख्यालय जीनेवा मे है की फ़ंडिंग रोक दी गयी है क्योंके वर्ल्ड हैल्थ ओर्गनईसेशन के कोरोना के रवेए से अमेरिका नाराज चल रहा है 

वर्षो से अमेरिका के द्वारा चाइना को इस बायो लॉजिकल लेब के संचालन के लिए पैसा दिया जा रहा था ये फ़ंडींग पिछले 10 वर्षो से की जा रही थी अमेरिका द्वारा चमगादड़ों पर रिसर्च के लिए वुहन इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलोजी को 3.7 मिलियन डॉलर लगभग 29 करोड़ की रकम अदा की गयी तो इसका मतलब वाइरस क बारे मे अमेरिका भी जानता था फिर भी वह इससे अंजान बना रहने का दिखावा कर रहा है ।

लेरी क्लेमेन ने रिपब्लिक ऑफ चाइना और इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलोजी के वीरुध 20 ट्रिलियन डॉलर का केस इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस मे किया है

कैसे चाइना छोटे देशो की मदद कर बनेगा सुपर पावर 

चाइना का बिजिंग सलाहकर के तोर पर उभर रहा है कैसे सॉफ्ट लीडरशिप के बहाने से चाइना अपने दोस्तो की संख्या बड़ा रहा है कई देशॉ के प्रतिनिधि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कोरोना को कंट्रोल करने क तरीके बीजिंग से सीख रहे है चाइना इस समय पीपीई किट के सप्लाइ पर बहुत ध्यान दे रहा है और ज्यादा डैम चुकाने पर वह देलिवरी का पता भी बादल रहा है भारत से चाइना की कंपनी को दिये ऑर्डर को भारत के बजाय अमेरिका भेज देना इसका उदाहरण मात्र है  इटली क मदद की वेंटिलेटर ,टेस्ट किट ,मास्क दिये सरबिया को मास्क मेडिकल टीम,टेस्ट किट दी, अफ्रीका के 54 देशों मे सरजिकल मास्क ,टेस्टिंग किट ,प्रोटेक्टिव सुट्स देकर उनके नैचुरल रिसौर्सेस पर अपना कब्जा जमाने के लिए मदद का हाथ बड़ाया है चाइना ने बेहिसाब सस्ता सोना सस्ते दाम पर खरीदा है  चाइना वर्ल्ड लीडर के तौर पर खुद को पेश कर रहा है चाइना इटली की कुछ कंपनी मे इन्वेस्ट कर रहा है और अब भारत मे एचडीएफ़सी बैंक मे चाइना ने मार्च के आखिरी सप्ताह मे इन्वेस्ट किया है एस माना जा रहा है की चाइना हर सस्ती चीज मे इन्वेस्ट कर उसे फ्युचर के लिए अपने आप को तेयार कर रहा है  चाइना को सस्ते तेल की आवश्यकता है जो वह खड़ी देशो की मदद करके तेल सस्ते दाम पर हासिल करना चाहता है  ।


साउथ चाइना सी और प्रशांत महासागर मे चाइना की दस्तक 

चाइना की नजर प्रशांत महासागर और विवादित साउथ चाइना सी पर चाइना  की बुरी नज़र है चाइना द्वारा विवादित साउथ चाइना सी मे क्रत्रिम द्वीपो का निर्माण किया जा रहा है छोटे आयलैंड  पर विशाल नेवल बेस का निर्माण किया जा रहा है क्योंकि दुनिया के बिज़ि समुद्री रास्ते से पूरीदुनिया का 30 फीसदी व्यापार संचालित किया जाता है  इस सी मे नैचुरल गॅस का भंडार है इन टापुओ पर आर्मी बेस मिसाईल डिफफ़ेनस सिस्टम तेनात किए जिससे अंतराष्ट्रीय देश चाइना के विरोध मे खड़े हो गए है और अब चीनी नेवी के युद्ध पोत जिआन 32 का प्रशांत महासागर मे गश्त लगाना चाइना की नई मंशा को उजागर कर रहा है  क्योंकि भारत का 55 फीसदी व्यापार इससी समुद्री मार्ग से होता है चाइना इस मार्ग पर अपना कब्जा जमाना चाहता है

चाइना ने कैसे दिया प्लान को अंजाम 

अगर तथ्यो की माने तो चाइना ने 31 दिसम्बर से शुरू हुए  कोविड19  वाइरस से त्रस्त चाइना की मदद के लिए दुनिया के विभिन्न कोनो से चाइना मे मास्क सरजिकल सुट्स और दवाई भेजी गयी चाइना के सबसे बड़े बन्दरगाह पर दुनिया के साल भर मे मैनुफेक्चर होने वाले 50 फीसदी मास्क चाइना ने उठा लिए जिनहे दुनिया मे निवास करने वाले चीनी नागरिकों के द्वारा अपने देश की मदद के लिए खरीदकर चाइना भेज दिया गया अब जब सभी देशो मे मास्क और दवाई का अभाव हुआ तभी ये वाइरस 190 देशो मे फैला दिया ।


चाइना ने लोक डाउन खत्म कर बंद करखानों को किया दुगनी रफ्तार से चालू 

चाइना के बीजिंग ने  कोविड19  वाइरस को काबू कर लोक डाउन समाप्त किया गया और बाज़ार खुलने लगे है जहा आधी से ज्यादा दुनिया वाइरस से त्रस्त है चाइना मे मैनुफेक्चुरिंग चालू हो गयी है चाइना युद्ध स्तर पर मास्क , पीपीई किट और दवाई ,टेस्टिंग किट का निर्माण कर छोटे देशो को सप्लाइ कर रहा है चाइना के द्वारा मटिरियल  की क़्वालिटी से ज्यादा क़्वानटीटी पर ज्यादा ध्यान है तभी तो भारत के उद्योगपति द्वारा दान मे दी गयी पीपीई कीटो मे से 50000 किटे बेकार निकली है और भारत के द्वारा उसे पाँच लाख कीटो का ऑर्डर दिया गया है ये ऑर्डर पूरा होने पर ही पता चलेगा की चाइना कई इसमे भी धोखेबाज़ी तो नहीं कर रहा है


अफ्नो की तलाश मे भटक रहे है वुहान के नागरिक 

लोग अस्पताल के मोर्ग मे अपने परिजनो के शवो को तलाश रहे है पर उन्हे कुछ पता नहीं चल रहा है कब्रिस्तान मे भी उनके परिजन के शव नहीं मिलने से लोगो का गुस्सा फूटा है और वे नगर पालिका के सामने प्रदर्शन कर रहे है  25 जनवरी के बड़ से कब्रिस्तान मे अंतिम संस्कार पर रोक लगा दी गयी थी कब्रिस्तानो  पर ताले लगा दिये थे और शवो को स्टोरेजों मे रखा जाने लगा  इसलिए वहा से भी उन्हे कुछ पता नहीं चला नगर पालिका ने जिनका अंतिम संस्कार किया था उनके कलश को नगर पालिका मे रखे गए है इन कलश मे से अफ्नो का कलश न मिलने के कारण नारे बाजी चालू हो गयी हुबई मे लोग सड़को पर उतरे तो पुलिस ने सख्ती चालू कर दी वुहन के ज़्यादातर अपार्टमेंट सुने पड़े है उनमे लाइट जालना बंद हो गयी है कई घरो मे से ताबूत मे बंद शव मिले है सरकारी दफ्तरो के बाहर परिजनो की गुमशुदगी के लिए लंबी लाइन लगी है खबरों की माने तो कोरोना के मरीजों को मौत के घाट उतार समुंदर मे दफन कर दिया गया लोगो के घरो मे बंद होने से उन्हे अपने परिजन की कोई जानकारी नहीं है कोरोना के मरीजो को घर से उठा कर मौत के हवाले कर दिया गया सममुंडर मे कई लाशे लहरों के साथ किनारे तक पहुँच रही है जिनहे चाइना की मेडिकल टीम के द्वारा निकाला जा रहा है चाइना की टेलिकॉम कंपनी की मासिक रिपोर्ट की माने तो 1.5 करोड़ सिम कार्ड बंद हो गए है ।

Comments

Popular posts from this blog

घर की वाटर प्रूफिंग कैसे करें

तानाशाह किम जोंग उन के साम्राज्य नॉर्थ कोरिया की वारिश किम यो- जोंग

समुद्री ज्वार से विद्युत उत्पादन Tidal Energy Power Plant